Vishwarang:Tagore International Literature & Arts festival

Detailed Schedule: English | Hindi

टैगोर अंतर्राष्ट्रीय साहित्य और कला महोत्सव के बारे में

हिंदी और भारतीय भाषाओं पर केंद्रित अंतर्राष्ट्रीय साहित्य एवं कला उत्सव विश्व भर के 30 देशों के 100 से अधिक लेखक, रचनाकार, नाटक, कला एवं फिल्म से जुड़े कलाकार, देशभर में 10,000 से अधिक प्रतिभागी, 50 से अधिक सत्र, नोबल विजेता, बुकर सम्मान विजेता, साहित्य अकादेमी एवं पद्म पुरस्कारों से सम्मानित रचनाकार, विश्वभर से विश्वविद्यालयों के प्रोफेसर एवं छात्र. टैगोर के कविता, चित्रांकन, कथा एवं नाटक पर केंद्रित पूर्वरंग, वैश्विक और भारतीय भाषाओं के साहित्य पर केंद्रित चार दिन, हिंदी के 600 से अधिक कथा लेखकों को शामिल करते `कथादेश' का लोकार्पण, पुस्तक एवं कला प्रदर्शनियाँ, नाट्य प्रदर्शन, लोकरंग, पुस्तक यात्रा एवं चुनिंदा पुस्तकों पर चर्चा, राष्ट्रीय वनमाली कथा सम्मान, और भी बहुत कुछ |

  • टैगोर अंतर्राष्ट्रीय एवं साहित्य समारोह के हमारे कलाकार

  • टैगोर अंतर्राष्ट्रीय एवं साहित्य समारोह के हमारे मुख्य अतिथि

  • पुस्तक यात्रा - विश्वरंग की एक पूर्ववर्ती कार्यक्रम

    " पुस्तक यात्रा, टैगोर इंटरनेशनल लिटरेचर एंड आर्ट्स फेस्टिवल 2019 की एक पूर्ववर्ती कार्यक्रम है, जो पढ़ने की परंपरा को वापस लाने और युवाओं में साहित्य के प्रति प्रेम को फिर से जागृत करने के लिए एक आंदोलन है। पुस्तक यात्रा का उद्घाटन 7 सितंबर 2019 को भोपाल (मध्य प्रदेश), बिलासपुर (छत्तीसगढ़), खंडवा (मध्य प्रदेश), वैशाली (पटना) और हजारीबाग (झारखंड) में प्रमुख हस्तियों - रजत कपूर, पीयूष मिश्रा, विनय पाठक,रघुवीर यादव और तिग्मांशु धूलिया द्वारा किया जाएगा और 'समापन समारोह' तीन दिवसीय युवा उत्सव के साथ 20 सितम्बर से 22 सितंबर तक होगा। पुस्तक यात्रा उसके बाद मप्र के 50 स्थानों और 13 जिलों, छत्तीसगढ़ के 13 जिलों, बिहार के 12 जिलों और झारखंड के 10 जिलों को कवर करेगी। इस नेक कार्य के लिए इस आयोजन को विज्ञान प्रसार और नेशनल बुक ट्रस्ट, नई दिल्ली का समर्थन प्राप्त है। पुस्तक यात्रा विभिन्न स्कूलों की यात्रा करेगी और क्षेत्रीय कवियों और लेखकों द्वारा कविता पाठ, लघु कहानी पाठ ,लेखन, चित्रकला जैसी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा।"

  • पुस्तक यात्रा उद्घाटन समारोह के हमारे मुख्य अतिथि -

  • पुस्तक यात्रा कार्यक्रम के हमारे कलाकार

संतोष चौबे - निदेशक, टैगोर अंतर्राष्ट्रीय साहित्य और कला महोत्सव

संतोष चौबे, आइसेक्ट के संस्थापक है। ये रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय और डॉ सी. वी. रमन विश्वविद्यालय के कुलाधिपति है। संतोष चौबे जी कला और संस्कृति के लिए टैगोर इंटरनेशनल सेंटर के अध्यक्ष भी हैं। वह भारत के एक प्रमुख कवि, लेखक व सामाजिक उद्यमी हैं। वह साहित्य, कविता, राजनीति और समाज पर लिखते हैं और एक व्यापक रूप से मान्यता प्राप्त विचारक और सामाजिक उद्यमी हैं। उन्हें उनके उपन्यास जलतरंग के लिए अंतर्राष्ट्रीय साहित्य महोत्सव में पुरस्कार मिला है । संतोष चौबे ने दो अन्य व्यापक रूप से लोकप्रिय उपन्यास "राग केदार" और "क्या पति कामरेड मोहन भी" लिखे हैं।अपने कार्यो का लिए उन्हें अशोका इंटरनेशनल फेलोशिप प्राप्त है।

  • Latest News